चार धाम के पौराणिक मार्ग की ट्रैकिंग पूर्ण कर दल पहुंचा गोपेश्वर, प्रशासन ने टीम का किया स्वागत

 चार धाम के पौराणिक मार्ग की ट्रैकिंग पूर्ण कर दल पहुंचा गोपेश्वर, प्रशासन ने टीम का किया स्वागत
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM

चमोली : उत्तराखंड के चारों धामों के पौराणिक मार्गों की ट्रेकिंग कर सोमवार को उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड (यूटीडीबी) और ट्रेक द हिमालय का 25 सदस्यीय दल गोपेश्वर पहुंचा। यहां जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने टीम का स्वागत कर यात्रा के अनुभव और मार्ग की जानकारी ली। उन्होंने सफल पैदल यात्रा पूर्ण करने पर दल के सदस्यों को बधाई भी दी।
बता दें, उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड (यूटीडीबी) ने ट्रेक द हिमालय के साथ मिलकर चारों धामों के पौराणिक मार्ग को पुर्नजीवित करने के उदेश्य से 25 अक्टूबर को ऋषिकेश से पैदल यात्रा शुरू की थी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दल को रवाना किया था। उल्लेखनीय है कि दशकों पहले चारधाम यात्रा ऋषिकेश से पैदल मार्ग से ही होती थी। सड़क सुविधा न होने के कारण तीर्थ यात्री इसी रास्ते से गंगोत्री, यमुनोत्री केदारनाथ और बद्रीनाथ के दर्शन करने पहुंचते थे। उत्तराखंड में पर्यटन को बढावा देने के लिए ऋषिकेश से चारों धाम तक पुराने रास्ते की तलाश शुरू की गई है। ताकि सदियों पुरानी विरासत को संरक्षित रखा जा सके। इसके लिए एसडीआरएफ, पर्यटन, माउंटनेरिंग के विशेषज्ञों की 25 सदस्यों की टीम को भेजा गया। दल ने पुरानी पगडंडियों से होते हुए पूरे रास्ते का अध्ययन कर वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी के साथ जानकारी एकत्रित कर ली है।
प्रोजेक्ट मैनेजर राकेश पंत ने बताया कि ऋषिकेश से पुरानी पगडंडियों से होते हुए यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ की करीब 1200 किलोमीटर पैदल यात्रा 43 दिनों में पूरी करने के बाद ट्रेकिंग दल गोपेश्वर पहुंचा है। यहां से ऋषिकेश पहुंचने पर यात्रा का समापन होगा। ट्रेकिंग दल में सुधांशु तोमर, जसपाल पंवार, महेश चन्द्रा, नितेश खेतवाल, नरेन्द्र बिष्ट, नरेन्द्र उपराय, मुकेश नेगी, करन कक्कर, अभिषेक, विजयपाल, जसपाल रावत, संदीप, आयुष, बिल्लू नेगी आदि सदस्य शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!