घोड़े-खच्चरों पर क्रूरता करने वालों पर अधिकारी करें कार्रवाई: सौरभ बहुगुणा

 घोड़े-खच्चरों पर क्रूरता करने वालों पर अधिकारी करें कार्रवाई: सौरभ बहुगुणा
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM

रुद्रप्रयाग: राज्य के पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगणा ने केदारनाथ यात्रा मार्ग का सोनप्रयाग से गौरीकुण्ड तक स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंन इस दौरान यात्रा मार्ग पर घोड़े-खच्चरों के लिये की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। वहीं अधिकारियों को घोड़े-खच्चरों की आवश्यकताओं का विषेश ध्यान रखने के निर्देश दिये।
उन्होनें यात्रा मार्ग में घोड़े खच्चरों के पानी, रख-रखाव की उचित व्यवस्था करने एवं जानवरों के साथ क्रूरता न करने के निर्देश घोड़े खच्चर संचालकों एवं हॉकरों को दिए। मंत्री ने यात्रा मार्ग पर संचालित घोडा खच्चरों में से पचास फीसदी का संचालन ही एक दिन में करने के निर्देश दिए, उन्होंने हर हाल में घोड़े खच्चरों को एक दिन का आराम देने के निर्देश दिए। किसी भी दशा में घोड़े खच्चरों से डबल चक्कर न लगाये जाय, इसके लिये उन्होने पुलिस एवं संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि यदि किसी के द्वारा ऐसा किया जाता है तो उसके विरुद्व नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाय। उन्होनें घोड़ा पड़ाव में घोडे खच्चरों के रहने के लिए शेड तैयार करने के हेतु उपजिलाधिकारी ऊखीमठ को प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही चिकित्सकों के लिए सोनप्रयाग एंव गौरीकुण्ड में आवास व्यवस्था करने के भी निर्देश दिये गये। उन्होेने घोड़े खच्चर यूनियन के अध्यक्ष से वार्ता करते हुए कहा कि यात्रा मार्ग में संचालित हो रहे घोड़े खच्चरों का ध्यान रखने को कहा गया। उन्होनें यह भी कहा कि यदि किसी मालिक एवं हॉकर द्वारा घोड़े खच्चर की देख-भाल ठीक ढंग से नही की जाती है, तो इसकी सूचना जिला प्रशासन को दी जाये, इसके लिये उन्होनें सभी के सहयोग की अपेक्षा की। उन्होनें यह भी निर्देश दिये है कि यदि किसी घोड़े खच्चर की मृत्यु हो जाती है तो सुलभ द्वारा उसको दफनाने की उचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाय।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह, सचिव पशुपालन, सहकारिता, डेयरी डॉ बीबीआरसी पुरुषोतम, अपर पुलिस अधीक्षक स्वप्न किशोर सिंह, उपजिलाधिकारी ऊखीमठ जीतेन्द्र वर्मा, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ आशीष रावत, पुलिस उपाधीक्षक सोनप्रयाग योगेन्द्र गुसांई, गुप्तकाशी विमल रावत आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!