पांणा गांव में तूफान से आवासीय भवन और ग्रामीणों की गौशाला क्षतिग्रस्त

 पांणा गांव में तूफान से आवासीय भवन और ग्रामीणों की गौशाला क्षतिग्रस्त
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM

चमोली : निजमूला घाटी के पाणा गांव में शनिवार रात्रि को तूफान से गांव में एक आवासीय भवन और 7 गौशाला क्षतिग्रस्त हो गई हैं। वहीं अन्य आवासीय भवनों को भी आंशिक नुकसान हुआ है। घटना में किसी ग्रामीण के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है। ग्रामीणों की ओर से जिला प्रशासन और राजस्व विभाग को घटना की जानकारी निरीक्षण कर राहत देने की मांग की है।

पाणा ग्राम प्रधान कलावती देवी ने बताया कि शनिवार की रात्रि को अचानक करीब 2 बजे तेज तूफान चलने लगा। जिससे स्थानीय निवासी गंगा सिंह पुत्र इंद्र सिंह के आवासी भवन की छत उड़ गई। वहीं गांव में हिम्मत सिंह, सबर सिंह, ज्ञान सिंह, दीप सिंह, भीम सिंह और नंदन सिंह की गौशाला की छत भी उड़ गई है।

स्थानीय निवासी हिम्मत सिंह ने बताया कि तूफान करीब तीन घंटे तक चलता रहा। इस दौरान ग्रामीणों में अफरा-तफरी का माहौल रहा। जहां तूफान से प्रभावित गंगा सिंह ने परिवार सहित अन्य ग्रामीणों के घर में शरण ली। वहीं ग्रामीणों ने गौशालाओं में बंधे मवेशियों को भी अन्य ग्रामीणों की गौशाला में शिफ्ट कर उन्हें सुरक्षित किया। साथ ही गांव में बर्फवारी के दौरान मवेशियों के लिये ग्रामीणों की ओर से एकत्रित घास भी हवा में उड़ गया है। ऐसे में ग्राम प्रधान पाणा कलावती देवी ने रविवार को राजस्व विभाग व जिलाधिकारी को सूचना देकर घटना स्थल का निरीक्षण कर ग्रामीणों को राहत देने की मांग उठाई है। कहा गया कि यदि शीघ्र ग्रामीणों को राहत नहीं मिलती तो आने वाले दिनों में होने वाली बर्फवारी के चलते ग्रमीणों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।

पाणा गांव में हुए नुकसान होने की सूचना मिली है। सोमवार को गांव का निरीक्षण कर रिपोर्ट तैयार की जाएगी। जिसके बाद उच्चाधिकारियों के निर्देश व नियमों के अनुसार राहत कार्य किये जाएंगे।
नीरज स्वरुप, उप राजस्व निरीक्षक।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!