पुलिस एसओजी टीम ने आईपीएल पर सट्टा लगाने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश

 पुलिस एसओजी टीम ने आईपीएल पर सट्टा लगाने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM
  • पुलिस ने ऑपरेशन क्रेक डाउन के तहत की कार्रवाई
  • सट्टा लगाने वाले दो गिरफ्तार एक हुआ फरार

उधमसिंह नगर : ऑपरेशन क्रेक डाउन के तहत एसओजी टीम की ओर से जिले में आईपीएल टी20 क्रिकेट पर लाखों का सट्टा लगाने वालेेे बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है।

पुलिस की ओर से प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को पुलिस अधीक्षक रुद्रपुर, पुलिस अधीक्षक अपराध जनपद ऊधमसिंह नगर के पर्यवेक्षण में थाना ट्राजिट कैम्प क्षेत्र में छापेमारी कर ठाकुर नगर ट्राजिट कैम्प से राकेश शर्मा उर्फ पण्डित के बराबर के मकान की गली एवं घर में वूमेन बिग बैस लीग-2021 में सट्टा लगवाने वाले 2 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया। जबकि उनका एक साथी मौके से भाग गया। पुलिस ने मौके से ओमप्रकाश पुत्र रतन लाल, जमालुद्दीन पुत्र सरफुद्दीन, निवासी जगतपुरा ट्राजिट कैम्प ऊधमसिंहनगर को गिरफ्तार किया। टीम ने दोनों लोगों के पास से सट्टे से सम्बन्धित 1 एलसाडी, 2 अदद सट्टा रजिस्टर, 2 अदद मोबाइल फोन, एक स्कूटी, एक पैन तथा 19 हजार रुपये नगद बरामद किये। जबकि अभियुक्त कमालुद्दीन पुत्र भूरे मियाँ मौके से भाग गया। मामले में गिरफ्तार अभियुक्तों ने बताया कि भागा हुआ व्यक्ति कमालुद्दीन पुत्र भरे मियाँ निवासी जगतपुरा आवास विकास ट्राजिट कैम्प है। जो टी-20 क्रिकेट के सबसे बड़े बुकी विशाल त्रिपाठी उर्फ ओसो निवासी सितारगंज का दाहिना हाथ है। ओसो कमालुद्दीन के साथ मिलकर टी-20 के सट्टे के अलावा नेपाल के कैसीनो में भी काम करता है।जहाँ कमालुद्दीन भी पार्टनर है। यह लोग सट्टे से ही करोडो रुपये का काम करते है। रुद्रपुर शहर में सट्टे का सबसे बड़ा बुकी कमालुद्दीन है। जिसके साथ रुद्रपुर के पकडे दोनों अभियुक्त जलालुद्दीन व ओम प्रकाश प्रजापति के अलावा इमरान उर्फ मुर्गा, राकेश शर्मा उर्फ पंडित, सन्नी अरोङा, अभिराज उर्फ मोनू , उमेश गुप्ता, गिरधर सिंह विष्ट उर्फ बादशाह, परवेज खान  भी सट्टा एवं टी-20 का कारोबार करते है। वंही जनपद नैनीताल से संजय कुमार अरोङा उर्फ पन्ना भाई, सुशील कुमार उर्फ बाबू , आमकार सिंह, सुशील कुमार भी क्रिकेट टी-20 सट्टे का कारोबरा करते हैं। जो विशाल त्रिपाठी उर्फ ओसो को सट्टा देते है। ओसो की लिमिट 1 करोङ से भी उपर की है। ओसो 20 लाख से ऊपर का ही सट्टा लेता है। फरार अभियुक्त कमालुद्दीन द्वारा इसी सट्टे के बदोलत आवास विकास में एक, जगतपुरा में एक, ट्रांजिट कैम्प में एक मकान बनाया है। साथ ही मैट्रोपोलिस व ओमैक्स सिटी में एक-एक फ्लैट भी खरीदा है। कमालुद्दीन के केनरा बैंक व बैंक ऑफ बड़ौदा में दो खातों में लगभग 80 लाख से ऊपर की धनराशि है। सट्टा रजिस्टरों में भी ओसो और अन्य सटोरियों के खातों का विवरण अंकित है। टीम की ओर से अभियुक्तों के विरुद्ध थाना ट्रांजिट कैम्प में मामला पंजीकृत किया गया है । पुलिस कार्रवाई में उपनिरीक्षक कमलेश भट्ट प्रभारी SOG, विकास चौधरी, सुरेन्द्र प्रताप सिंह, देवेन्द्र सिंह मेहता, का. भूपेन्द्र आर्या, भूपेन्द्र रावत,  प्रमोद कुमार, धरमवीर सिंह, राजेन्द्र कुमार, प्रभात चौधरी, विनोद, गोकुल, अरुणा, कंचना शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!