रे मूर्ख जनक जल्दी बता ये शिव धनु किसने तोड़ा है…….

 रे मूर्ख जनक जल्दी बता ये शिव धनु किसने तोड़ा है…….
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM

गोपेश्वर : संयुक्त रामलीला मंच की ओर से आयोजित रामलीला के तीसरे दिन शुक्रवार को सीता स्वयंबर और परशुराम-लक्ष्मण संवाद की लीला का मंचन किया गया। इस दौरान कलाकारों के अभिनय पर दर्शकों ने जमकर तालियां बजाई। शुक्रवार को लीला का शुभारंभ भाजपा की स्थानीय व्यवसायी भागवत रतूड़ी ने किया।
शुक्रवार को लीला का मंचन जनक दरबार में गुरु वशिष्ठ के प्रवेश के साथ शुरु किया। जिसके बाद आयोजित स्वयंबर में कलाकारों के हास्य अभियन ने दर्शकों को खूब गुदगुदाया। इस दौरान रावण ज्यों ही शिव धनुष को छूने लगता है तो आकाशवाणी होती है कि कोई असुर उसकी बहन को उठा ले जा रहा है। जिसे सुनकर रावण वहां से चला जाता है। लेकिन जाते-जाते वह जीवन में एक बार छल या बल से सीता को लंका की सैर कराने की बात कहता है। राजाओं द्वारा शिव धनुष न उठा पाने पर जनक निराश हो उठते हैं। जिस पर भ्राता लक्ष्मण क्रोधित हो जाते हैं और गुरु वशिष्ठ की आज्ञा पाकर भगवान राम शिव धनुष पर प्रत्यंचा चढाने का प्रयास करते हैं। जिससे पुराना हो चुका शिव धनुष खंडित हो जाता है। जिसकी गर्जना सुन शिव भक्त परशुराम जनक की सभा में पहुंचते हैं। सभा में पहुंचे पशुराम और लक्ष्मण के मध्य रोचक संवाद ने दर्शकों की खूब तालियां बटोरी। इस मौके पर रामलीला मंच के संरक्षक चंद्रप्रकाश भट्ट, अध्यक्ष अनूप पुरोहित, उपाध्यक्ष जगदीश पोखरियाल, सचिव आयुष चौहान, नगर पालिका गोपेश्वर के सभासद उपेंद्र भंडारी, मनमोहन सिंह, सुनील चौहान, बाबी, नितिन अरोड़ा, रेखा राणा, माया नेगी आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!