पूर्व काबिना मंत्री ने विधायक पर चहेतों को विधायक निधि का आवंटन करने के लगाये आरोप

 पूर्व काबिना मंत्री ने विधायक पर चहेतों को विधायक निधि का आवंटन करने के लगाये आरोप
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM
  • कहा विधायक निधि आवंटन में टैंडर प्रक्रिया की अनदेखी कर एक ही फर्म को दिया सामग्री वितरण का जिम्मा
  • पूर्व काबिना मंत्री ने गढवाल आयुक्त और डीएम को पत्र देकर जांच की उठाई मांग

गोपेश्वर : पूर्व काबीना मंत्री राजेंद्र भंडारी ने बदरीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट पर विधायक निधि के आवंटन अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने व टेंडर प्रक्रिया की अनदेखी का आरोप लगाया है। उन्होंने डेढ़ करोड़ की धनराशि एक ही फर्म को देने और सामग्री का वितरण न किये जाने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने गढ़वाल आयुक्त और जिलाधिकारी चमोली को पत्र भेजकर मामले की जांच करने की मांग उठाई है।
सोमवार को गोपेश्वर में पत्रकारों से वार्ता करते हुए राजेंद्र भंडारी ने कहा कि जिस प्रकार से जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी को निशाना बना कर उन्हें कमजोर किये जाने का प्रयास किया जा रहा है। और भाजपा जिलाध्यक्ष के ज्ञापन पर दो दिन के भीतर जिला पंचायत की जांच के आदेश हो जाते है और मेरे ओर से पांच दिन पूर्व विधायक के खिलाफ विधायक निधि में अपनायी गई अनियमितता की जांच की मांग पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि सत्ता पक्ष के लिए अलग नियम और कानून और विपक्ष के लिए अलग न्याय व्यवस्था यह लोकतंत्र की हत्या है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सत्ता का दुरूपयोग कर उनके साथ दोहरे मापदंड अपना रही है। जिसका उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ेगा। उन्होंने विधायक पर यह भी आरोप लगाये कि 2017 से 2021 तक विधायक निधि में भारी अनियमितता बरती गई है। जो भी कार्य विधायक निधि से होने की बात की जा रही है वह धरातल पर कहीं नजर नहीं आ रहे है। बिना किसी टेंडर प्रक्रिया के अपने चेहतों को कार्य दिये गये और सभी कार्य सिर्फ कागजों पर भी समाप्त हो गये है। उनकी भी जांच होनी चाहिए और जिस कार्यदायी संस्था ने कार्य किये है उनके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि दो-दो आईएएस अधिकारियों ने जिला पंचायत के नंदादेवी राजजात यात्रा के कार्यों की जांच की है जिसमें उन्हें क्लीन चिट दी गई है। उसके बाद फिर से जिला पंचायत की जांच करवायी जा रही है। इससे साफ है कि भाजपा अपनी हार पहले ही मान चुकी है और जिला पंचायत अध्यक्ष के बहाने राजेंद्र भंडारी पर निशाना साधा जा रहा है। उन्होंने भाजपा को चुनौती देते हुए कहा कि यदि भाजपा में दम है तो वह जिला पंचायत में अविश्वास प्रस्ताव लेकर दिखाये। फिर पता चल जायेगा कि किस में कितना दम है। इस मौके पर सेवादल की अध्यक्ष अनिता बिष्ट, उषा रावत, अरविंद नेगी, तेजवीर कंडेरी, रविंद्र नेगी, हरेंद्र राणा, योगेंद्र बिष्ट उषा फरस्वाण आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!