कोषागार में 2 करोड़ 21 लाख का गबन, पुलिस आरोपियों की खोजबीन में जुटी

 कोषागार में 2 करोड़ 21 लाख का गबन, पुलिस आरोपियों की खोजबीन में जुटी
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM
  • कार्यालय में तैनात दो कैशियर समेत 4 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

नई टिहरी : कोषाधिकारी कार्यालय नई टिहरी में 2 करोड़ 21 लाख रुपये के गबन का मामला प्रकाश में आया है। मामले के सामने आने के बाद सहायक कोषाधिकारी ने 25 दिसंबर से गायब चल रहे कैशियर सहित चार लोगों के खिलाफ कोतवाली नई टिहरी में शिकायत दर्ज करा दी है।लिखित सूचना मिलने के बाद पुलिस ने सभी चार लोगों के बैंक खाते सील कर दिए हैं। वंही आरोपियों की धरपकड़ के लिए एक्टिव सर्विलांस की मदद ली जा रही है।

बता दें, कि कोषाधिकारी कार्यालय के दो कैशियर के गायब होने से की जा रही गबन की आशंका केे बाद कि गयी जांच में अभी तक 2 करोड़ 21 लाख 23 हजार 150 रुपये की गड़बड़ी सामने आई है। जानकारी के अनुसार यह फर्जीवाड़ा काफी लंबे समय से चल रहा था। खुलासा तब हुआ जब नैनीताल ट्रेजरी में घपला सामने आने पर उत्तराखंड पेंशन एवं हकदारी निदेशालय देहरादून ने टिहरी कोषागार में भी जांच कराने के निर्देश जारी किए थे। जांच आने पर पेंशन प्रकरण देख रहे कैशियर जयप्रकाश शाह और यशपाल सिंह नेगी 25 दिसंबर से अचानक चंपत हो गए। परिजनों ने उनकी गुमशुदगी कोतवाली में दर्ज कराई। यह भी उल्लेखनीय है कि इतना बड़ा फर्जीवाड़ा होने के बावजूद उच्चाधिकारी मामले में अनभिज्ञता जाहिर कर रहे थे। गड़बड़ी का मामला सामने आने पर सहायक कोषाधिकारी अरविंद सिंह चौहान ने 29 दिसंबर की रात को कोतवाली में लापता दोनों कर्मचारियों के खिलाफ 2 करोड़ 21 लाख 23 हजार 150 रुपये का गबन करने की तहरीर दी गई।

एसएसपी नवनीत सिंह भुल्लर ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी है। आरोपियों के खाते सील कर दिए हैं। बताया कि गायब कैशियर की कार ऋषिकेश में बरामद हो गई है जिसमें से करीब 103 विभागीय फाइलें बरामद हुई हैं। पुलिस के अनुसार गड़बड़ी कई सालों से चल रही थी। कोषागार में पेंशन प्रकरण देख रहे आरोपी मृतक पेंशनरों के मृत्यु प्रमाण पत्र हटाकर पेंशन की धनराशि अपने खातों में क्रेडिट कराते थे। और इस पैसे से अपना शौक पूरा करते थे।

 

गायब हुए 2 कैशियर के खातों में जमा हुए पौने दो करोड़ रुपये

कोषाधिकारी कार्यालय से गायब चल रहे 2 कैशियर के खातों में करीब पौने दो करोड़ रूपये जमा हुए हैं। जांच में पता चला है कि कैशियर जयप्रकाश शाह के बैंक खाते में 1 करोड़ 35 लाख 46 हजार रुपये और कैशियर यशपाल सिंह नेगी के खाते में 33 लाख 3 हजार रुपये जमा हुए हैं।आरोपियों ने पेंशन का पैसा हड़प कर सुरेंद्र सिंह पंवार पता नामूलम के बैंक खाते में 10.77 लाख और मनोज कुमार पता नामालूम के खाते में 42 लाख रुपये अलग-अलग समय पर जमा करवाये गए हैं। जिसके बाद पुलिस इन दोनों की भी तलाश में जुटी है। जांच में यह भी पता चला है कि आरोपियों ने अंतिम बार ऋषिकेश के एक एटीएम से 30 हजार रुपये निकाले थे। लेकिन उसके बाद से दोनों के मोबाइल फोन बंद है जबकि एटीएम का भी इस्तेमाल नहीं किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!