बदरीनाथ विधायक ने जिला पंचायत प्रकरण में सम्भला मोर्चा

 बदरीनाथ विधायक ने जिला पंचायत प्रकरण में सम्भला मोर्चा
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM
  • उपाध्यक्ष के आरोपों की जांच की मांग की हिमायत की
  • साथ ही जांच पूर्ण होने तक अध्यक्ष के अधिकार सीज करने की उठाई मांग

चमोली : जिला पंचायत चमोली में आरोप और प्रत्यारोपों का दौरान खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। अब मामले में बदरीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट ने उपाध्यक्ष की मांग पर पंचायती राज मंत्री से मामले में वार्ता कर जांच करवाने की बात कही है। साथ ही उन्होंने जांच प्रक्रिया पूर्ण होने तक जिला पंचायत अध्यक्ष के अधिकार सीज करने किये जाने की भी बात कही है।
जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह रावत, भाजपा समर्थित जिला पंचायत सदस्यों के बाद अब बदरीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट ने जिला पंचायत चमोली प्रकरण में मोर्चा संभाल लिया है। उन्होंने जिला पंचायत के उपाध्यक्ष की ओर से अध्यक्ष पर लगाये आरोपों की जांच की हिमायत की है। कहा कि मामले में वे पंचायती राज मंत्री से वार्ता कर जांच करवाने और जांच पूर्ण होने तक जिला पंचायत अध्यक्ष के अधिकार सीज करने की बात करेंगे। साथ ही उन्होंने जिला पंचायत अध्यक्ष की ओर से अनर्गल आरोप लागने की कही बात पर कहा कि यदि जिला पंचायत अध्यक्ष पर उपाध्यक्ष ने की ओर से अनर्गल आरोप लगाये गये हैं। तो कांग्रेस के जिला पंचायत सदस्यों को उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जाना चाहिए था। लेकिन जिला पंचायत सदस्यों की ओर से अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। वहीं उन्होंने नंदा देवी राजजात मामले में क्लीन चिट मिलने के बात पर विधायक ने कहा कि मामले में प्रशासनिक अधिकारियों ने स्वयं के बचाव में वित्तीय अनियमिता न होने की बात कही गई है। जबकि मामले में टेंडर प्रक्रिया में अनियमितता का है। जिसकी जांच होनी चाहिए। वहीं उन्होंने जिला पंचायत की ओर से बिना अनापत्ति प्रमाण पत्र के कार्य करवाने व कार्य स्थलों पर योजना की धनराशि का उल्लेख न करने का भी आरोप लगाया है। कहा कि जिला पंचायत के 32 कार्य समाप्त होने पर भी भुगतान नहीं किया गया है। वहीं उन्होंने पूर्व काबिना मंत्री राजेंद्र भंडारी के कार्यकाल में बिना कार्य के हुए भुगतान के कार्यों की भी जांच की मांग की है। इस मौके पर भाजपा के जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट, मीडिया प्रभारी महावीर रावत आदि मौजूद थे।

क्या है मामला—
चमोली जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह रावत की ओर से जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी पर नंदा देवी राजजात यात्रा के दौरान करवाये गये निर्माण कार्यों में अनियमतिता करने सहित अन्य आरोप लगाये थे। जिस पर जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी ने उपाध्यक्ष की ओर से लगाये गये आरोपों का खंडन किया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!