विभागीय स्वीकृति को धत्ता बताकर दूसरे गांव में चल रहा आंगनवाड़ी केंद्र, ग्रामीणों में गुस्सा

 विभागीय स्वीकृति को धत्ता बताकर दूसरे गांव में चल रहा आंगनवाड़ी केंद्र, ग्रामीणों में गुस्सा
bagoriya advt
WhatsApp Image 2022-07-27 at 10.18.54 AM

चमोली : चमोली जिले की ग्राम पंचायत घूनी के धरवाणी और भितलकुंडली गांवों में बच्चों की संख्या के आधार धरवाणी में आंगनवाड़ी केंद्र के संचालन की स्वीकृति प्रदान की गई है। लेकिन यहां केंद्र संचालक की ओर से विभागीय आदेश को धत्ता बताते हुए केंद्र का संचालन धूनी गांव के ल्वाठ तोक में किया जा रहा है। जिससे यहां बच्चों को केंद्र तक जाने के लिये खासी दिक्कतें उठानी पड़ रही हैं। ऐेसे में गांव के जन प्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने मामले में बाल विकास विभाग से कार्रवाई की मांग उठाई है।
बता दें कि राजस्व ग्राम धरवाणी और भितलकुंडली तोक के ग्रामीणों की मांग पर बाल विकास विभाग की ओर से धरवाणी गांव में आंगनवाड़ी केंद्र के संचालन की स्वीकृति प्रदान की गई थी। जिसके बाद यहां केंद्र संचालक की ओर से ग्रामीणों की जानकारी के बिना ही केंद्र का संचालन घूनी गांव के ल्वाठ तोक में किया जाने लगा। ऐसे में धरवाणी और भितलकुंडली के 16 बच्चों को करीब 4 किमी की पैदल दूरी पार कर केंद्र में जाना पड़ रहा है। ऐसे में जब जन प्रतिनिधियों और ग्रामीणों की ओर से विभाग से मामले में जानकारी मांगी गई तो पता चला कि केंद्र के संचालन की स्वीकृति धरवाणी में किये जाने के लिये दी गई है। जिसके चलते ग्रामीणों में केंद्र संचालक को लेकर गुस्सा है। अब ग्राम प्रधान घूनी लखपत सिंह, क्षेत्र पंचायत सदस्य हरीश रावत, उप प्रधान हरीश रावत, वीरेंद्र सिंह नेगी, नरेंद्र सिंह और पंकज पांडेय का कहना है कि गांव और केंद्र के बीच की 4 किमी दूरी में जहां रामणी गाड़ और जंगल मौजूद है। ऐसे में यहां बड़ी दुर्घटना की संभावना बनी हुई है। कहा कि धूनी में पूर्व से दो आंगनवाड़ी संचालित की जा रही हैं। ऐसे में धरवाणी के स्वीकृत केंद्र को धूनी गांव में संचालित करवाया जाना न्यायोचित नहीं है। उन्होंने मामले में शीघ्र कार्रवाई की मांग उठाई है।

धूनी गांव के धरवाणी के स्वीकृत आंगनवाड़ी केंद्र के अन्यत्र संचालित होने की जानकारी ग्रामीणों की ओर से दी गई थी। जिस पर केंद्र संचालक को निर्धारित स्थान पर केंद्र के संचालन के लिखित व मौखिक आदेश दिये गये हैं। यदि मामले में केंद्र संचालक की ओर से आदेशों की अवेहलना की गई है। तो मामले की जांच कर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
सोएब हुसैन, बाल विकास परियोजना अधिकारी, घाट, चमोली।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!