नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल की सजा

 नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल की सजा
rishi
advt
  • विशेष न्यायाधीश पोक्सो ने सुनाई दोषी को सजा

रुद्रप्रयाग : नाबालिग से जबरन शारीरिक सम्बंध बनाने के मामले में जिले की विशेष पोक्सो अदालत ने दोषी को 20 वर्ष की सजा सुनाई है। साथ ही अदालत ने दोषी को 10 हजार के अर्थदंड से भी दंडित किया है। सरकार की ओर से सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी आशीष नेगी ने पक्ष रखा।

मामला 2021 के मार्च माह का है। मामले में आरोपी अनूप सिंह ने नाबालिग के साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाए। जिस कारण वादी की नाबालिग पुत्री गर्भवती हुई। किन्तु घटना की जानकारी 8 माह बाद पीड़ित के घर वालों को उसकी बहन ने दी। जिसके बाद नाबालिग के पिता ने 1 दिसंबर 2021 को थाना गुप्तकाशी में आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज की। जिस पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ पोक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज किया। विवेचना के चलते अभियुक्त को गिरफ्तार कर न्यायालय कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया। बाद में आरोप पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। विवेचना के दौरान अभियोजन पक्ष ने पीड़ित सहित कुल 8 गवाह न्यायालय में प्रस्तुत किये। सभी गवाहों ने घटना का पूर्ण समर्थन किया । पीड़ित ने विचारण से पूर्व घटना होने के बाद गर्भवती होने के बाद एक नवजात शिशु को जन्म दिया, जिसमें अभियुक्त, पीड़िता व नवजात शिशु के डीएनए रिपोर्ट के आधार पर नवजात शिशु के जैविक माता-पिता होने की पुष्टि हुई है।ऐसे में मामले की सुनवाई करते हुए विशेष न्यायाधीश पोक्सो श्रीकांत पाण्डेय ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनकर आरोपी को 20 साल के कठोर कारावास व दस हजार अर्थदंड से दंडित करने की सजा सुनाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
error: Content is protected !!