92 वर्षों बाद दशज्यूला क्षेत्र में हो रहा माँ चंडिका की दिवारा यात्रा

माँ चंडिका दिवारा आयोजन से भक्ति के रंग से सरोबार हुआ दशज्यूला क्षेत्र रुद्रप्रयाग : 92 वर्षों बाद दशज्यूला क्षेत्र में…

गोपीनाथ मंदिर का पौराणिक त्रिशूल खा रहा जंक, त्रिशूल का बदल रहा मौलिक स्वरुप

चमोली : गोपेश्वर नगर के गोपीनाथ मंदिर प्रांगण में स्थापित पौराणिक त्रिशूल रख-रखाव के अभाव में जंक खाने से स्वरुप…
Share
error: Content is protected !!